वाराणसी : पीने लायक नहीं है गंगाजल, डुबकी लगाने की तो बात ही छोड़िए, एक्सपर्ट की रिपोर्ट में खुलासा

0
7


रिपोर्ट: अभिषेक जायसवाल

वाराणसी: मोक्षदायिनी गंगा जल शुद्ध नहीं है। भोले-भाले लोगों की नगरी काशी में गंगा जल को लेकर एक चौंकाने वाला सच सामने आया है। संकट मोचन फाउंडेशन की रिपोर्ट के मुताबिक वाराणसी में गंगा का पानी नहाने लायक भी नहीं है. फाउंडेशन ने वाराणसी में आठ जगहों से सैंपल लेने के बाद यह रिपोर्ट जारी की है। रिपोर्ट में पाया गया कि गंगा के पानी में मल कोलीफॉर्म का स्तर कई गुना अधिक था। जो गंगा में स्नान करने वालों के लिए चिंताजनक है।

आईआईटी बीएचयू के प्रोफेसर और फाउंडेशन के अध्यक्ष विशंबर नाथ मिश्रा ने कहा कि सीधे गंगा में गिरने वाले कई नाले अवरुद्ध हो गए हैं, लेकिन कहीं न कहीं इसका पानी गंगा में आ रहा है. अस्सी और वरुण से बड़ी मात्रा में सीवेज गंगा में बह रहा है, जिसमें कॉलीफॉर्म युक्त मल है।

गंगा का पानी पीने और नहाने लायक नहीं है।

नहाने के पानी में प्रति 100 मिलीलीटर में 500 से कम मल कोलीफॉर्म होना चाहिए। लेकिन गंगा में 30 करोड़ 10 लाख जहां अस्सी पाए जाते हैं और 6 करोड़ के करीब डाउनस्ट्रीम में जहां वरुण पाए जाते हैं। 14 जुलाई की रिपोर्ट में यह बात सामने आई है। इसके अलावा तुलसीदास 65 हजार, शिवाला घाट 35 हजार, राजेंद्र प्रसाद घाट 21 हजार, ललिता घाट 16 हजार है। जिससे साफ है कि गंगा के पानी में बड़ी मात्रा में सीवेज है। ऐसी स्थिति में गंगा का पानी नहाने लायक भी नहीं रहता, लेकिन फिर भी लोग गंगा में स्नान करते हैं, ऐसा माना जाता है।

यह है प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड का दावा

संकट मोचन फाउंडेशन के आंकड़ों के अलावा उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की बात करें तो इसकी क्षेत्रीय अध्यक्ष कालिका सिंह का कहना है कि पिछले 7 सालों में गंगा की सेहत में काफी सुधार हुआ है. वाराणसी में दीनापुर, रमना, गोइथन और रामनगर एसटीपी संयंत्रों में प्रतिदिन लगभग 300 एमएलडी सीवेज का उपचार किया जाता है। वाराणसी में गंगा में मिले 23 में से 19 नालों को पूरी तरह से बंद कर दिया गया है. बाकी नालों के नहरीकरण का काम भी चल रहा है, लेकिन अगर नालियां बंद हैं तो बड़ा सवाल यह है कि वाराणसी में गंगा का पानी नहाने लायक क्यों नहीं है.

टैग: गंगा जल, पढाई करना, वाराणसी समाचार



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here