मेष राशि के लिए मूंगा और धनु राशि के लिए पुखराज, जानिए आपकी राशि के लिए कौन सा रत्न शुभ है

0
5


हाइलाइट

कोई भी रत्न कुंडली के अनुसार ही धारण करना चाहिए।
भारतीय ज्योतिष में मुख्य रूप से 9 रत्नों को महत्वपूर्ण माना गया है।

राशि चक्र के रत्न: ज्योतिष शास्त्र के अनुसार राशि रत्नों का व्यक्ति के जीवन पर बहुत प्रभाव पड़ता है। राशि चक्र के संकेतों को रत्न के रूप में जाना जाता है जो किसी विशेष राशि पर आधारित होते हैं। रत्नों की बात करें तो भारतीय ज्योतिष में मुख्य रूप से 9 रत्नों को महत्वपूर्ण माना जाता है, जिनका संबंध किसी न किसी ग्रह से होता है। ग्रहों और नक्षत्रों के अशुभ प्रभाव को कम करने के लिए लोग रत्न धारण करते हैं। लेकिन कोई भी रत्न धारण करने से पहले किसी ज्योतिषी से सलाह जरूर लें।

ज्योतिष किसी भी व्यक्ति को जन्म राशि, जन्म तिथि, ग्रह नक्षत्र और कुंडली के आधार पर कोई भी रत्न धारण करने की सलाह देता है। आचार्य गुरमीत सिंह जानिए आपकी राशि के अनुसार कौन से रत्न आपको लाभ देंगे।

अपनी राशि के अनुसार जानिए अपना शुभ रत्न

मेष राशि
मेष राशि का संबंध मंगल से होता है, जिसे सबसे शक्तिशाली ग्रह माना जाता है। लाल मूंगा मंगल का रत्न है। इसलिए मेष राशि वालों को मूंगा धारण करने की सलाह दी जाती है। मेष राशि के लोग मंगलवार के दिन अपनी दाहिनी तर्जनी या सबसे छोटी उंगली में लाल मूंगा धारण कर सकते हैं।

वृषभ
वृष राशि का स्वामी शुक्र है। हीरा शुक्र ग्रह का शुभ रत्न माना जाता है। वृष राशि के लोग हीरा धारण करते हैं तो इसके शुभ प्रभाव में वृद्धि होती है। शुक्रवार के दिन आप दाहिने हाथ की मध्यमा अंगुली में हीरा धारण कर सकते हैं।

मिथुन राशि
मिथुन राशि पर बुध का शासन है। इस राशि के लोगों को पन्ना धारण करने की सलाह दी जाती है। बुधवार के दिन कनिष्ठा अंगुली में पन्ना धारण करने से मिथुन राशि के जातकों को काफी लाभ मिलता है।

केकड़ा
चंद्रमा कर्क राशि का स्वामी है। मोती रत्न का संबंध चंद्रमा से है। कर्क राशि के जातक किसी भी माह के शुक्ल पक्ष के सोमवार को मोती धारण कर सकते हैं। दाहिने हाथ की छोटी उंगली में मोती धारण करना चाहिए।

यह भी पढ़ें: पीतल के बर्तन पूजा के लिए सर्वश्रेष्ठ क्यों माने जाते हैं? यहां जानें

सिंह राशि का सूर्य चिन्ह
सिंह राशि की बात करें तो सूर्य सिंह राशि का स्वामी है। सूर्य माणिक्य से जुड़ा ग्रह है। रविवार के दिन अनामिका में माणिक्य रत्न धारण करने से इस राशि के लोगों को हर क्षेत्र में सफलता मिलती है।

लड़की को
कन्या राशि का स्वामी बुध है। ज्योतिष इस राशि के लोगों को पन्ना धारण करने की सलाह देता है। क्योंकि पन्ना का संबंध बुध ग्रह से भी है। बुधवार के दिन सोने की अंगूठी में पन्ना धारण करके कनिष्ठा अंगुली में धारण करने से कन्या राशि में धन, ऐश्वर्य और ऐश्वर्य की प्राप्ति होती है।

तुला
तुला राशि का स्वामी शुक्र है और शुक्र हीरे से जुड़ा है। इसलिए इस राशि के लोगों को शुक्रवार के दिन मध्यमा अंगुली में प्लेटिनम या चांदी की अंगूठी पहनने की सलाह दी जाती है।

वृश्चिक
वृश्चिक का संबंध मंगल से है। वृश्चिक राशि वालों को मंगलवार के दिन लाल रंग का मूंगा धारण करना चाहिए। यह कई लाभ प्रदान करता है।

धनुराशि
यदि धनु राशि के लोग गुरुवार के दिन अपने दाहिने हाथ की तर्जनी में पुखराज धारण करते हैं, तो कुंडली में बृहस्पति ग्रह मजबूत होता है।

मकर राशि
इस राशि का स्वामी शनि है। नीलम का संबंध शनि ग्रह से माना जाता है। मकर राशि के जातकों को शनिवार के दिन सूर्यास्त के बाद नीलम धारण करनी चाहिए।

यह भी पढ़ें: बीमारियों से छुटकारा पाने के लिए अपनाएं ये ज्योतिषीय उपाय

कुंभ राशि
कुंभ राशि का संबंध मकर की तरह शनि से भी है। इसलिए इस राशि के लोगों को भी नीलम रत्न धारण करना चाहिए।

मीन राशि
ज्योतिष के अनुसार मीन राशि पर शनि और राहु दोनों का शासन है। ज्योतिष इस राशि के लोगों को मोती या मूंगा रत्न धारण करने की सलाह देता है।

टैग: ज्योतिष, धर्म, पथरी, राशि चक्र के संकेत



#

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here