मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के काफिले को छात्रों ने रोका, मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को भी दिए निर्देश, जानिए पूरा मामला

0
5


फसल काटना मध्य प्रदेश के कटनी जिले में युवा महापंचायत का आयोजन किया गया। इसमें मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने भी हिस्सा लिया। यहां कटनी के एक छात्र ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के काफिले को रोका। स्नातक द्वितीय वर्ष की छात्रा अंकिता ने आगे की पढ़ाई और आईएएस अधिकारी बनने के लिए सीएम शिवराज सिंह चौहान से मदद मांगी। हालांकि मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि चाचा भतीजी की आर्थिक मदद जरूर करेंगे. इसके बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि छात्र रुक कर पढ़ाई करें.

युवा महापंचायत में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के भाषण के बाद अंकिता ने सीएम शिवराज सिंह चौहान का रास्ता रोक दिया. सीएम शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि भतीजी आगे पढ़ना चाहती है। अंकिता भोपाल में रहकर बीएससी करना चाहती हैं। इसके बाद मैंने आईएएस बनने का सपना देखा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अंकिता की आगे की पढ़ाई के सभी इंतजाम करने की बात कही. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अधिकारियों को अध्ययन के संबंध में निर्देश दिए।

अंकिता दुबे की पारिवारिक स्थिति नाजुक
दरअसल अंकिता दुबे कटनी के स्लिमनाबाद की रहने वाली हैं। अंकिता बी.ए. वह सेकेंड ईयर में पढ़ रही है। अंकिता बीए की जगह बीएससी करना चाहती है। बीएससी के बाद आईएएस बनना चाहते हैं। अंकिता का कहना है कि वह आईएएस बनने के अपने सपने को पूरा करने के लिए भोपाल में रहकर पढ़ाई करना चाहती हैं।

इसके लिए मुझे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से बात करनी चाहिए और छात्रावास सहित शिक्षा की सभी व्यवस्था करनी चाहिए। परिवार की आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण पढ़ाई पूरी करने में दिक्कत हो रही है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को आगे की पढ़ाई जारी रखने में मदद करने को कहा गया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अधिकारियों को बालिकाओं की शिक्षा को लेकर सभी प्रबंध करने के निर्देश दिए हैं.

अंकिता के पिता चौकीदार का काम करते हैं
कटनी के स्लिमनाबाद की रहने वाली अंकिता की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। ..अंकिता के पिता चौकीदार का काम करते हैं। अंकिता की तीन बहनें हैं। आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण पढ़ाई में परेशानी होती थी। सीएम शिवराज सिंह चौहान द्वारा अधिकारियों को निर्देश दिए जाने के बाद अंकिता खुश हैं। अंकिता को भरोसा है कि सीएम शिवराज सिंह चौहान की मदद के बाद उनकी आगे की पढ़ाई जारी रहेगी।

टैग: फसल समाचार, मध्य प्रदेश समाचार



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here