मई में पाम तेल का आयात 33 फीसदी गिरा, ट्रेड बॉडी ने कहा

0
24


मई में पाम तेल का आयात 33 फीसदी गिरा, ट्रेड बॉडी ने कहा

मई में पाम तेल का आयात 33 फीसदी गिरा

नई दिल्ली:

इस साल मई में, भारत का पाम तेल आयात 33.20 प्रतिशत गिरकर रु। उद्योग निकाय सॉल्वेंट एक्सट्रैक्टर्स एसोसिएशन (एसईए) ने मंगलवार को कहा कि 5,14,022 टन, लेकिन रिफाइनरियों द्वारा आरबीडी पामोलिन तेल के शिपमेंट में काफी वृद्धि हुई है।

विश्व के प्रमुख वनस्पति तेल खरीदार भारत ने मई 2021 में 7,69,602 टन पाम तेल का आयात किया।

इस साल मई में देश का कुल वनस्पति तेल आयात 10,05,547 टन गिर गया, जो पिछले साल की समान अवधि में 12,13,142 टन था।

देश के कुल वनस्पति तेल आयात में पाम तेल की हिस्सेदारी लगभग 50 प्रतिशत है।

एसईए के मुताबिक इंडोनेशिया ने 23 मई से कुछ शर्तों के साथ पाम ऑयल के निर्यात पर लगे प्रतिबंध को हटा लिया है और निर्यात कर में भी कमी कर दी है। इससे इंडोनेशिया से निर्यात बढ़ेगा और वैश्विक कीमतों पर असर पड़ेगा।

एसईए के आंकड़ों के अनुसार, पाम तेल उत्पादों में, कच्चे पाम तेल (सीपीओ) का आयात इस साल मई में घटकर 4.09 लाख टन रह गया, जो एक साल पहले इसी अवधि में 7.55 लाख टन था।

हालांकि, इस अवधि के दौरान आरबीडी पामोलिन का आयात 2,075 टन से बढ़कर 1 लाख टन हो गया, जबकि कच्चे पाम कर्नेल तेल (सीपीकेओ) का आयात 11,894 टन से घटकर 4,265 टन हो गया।

नरम तेलों में सोयाबीन तेल का आयात इस साल मई में तेजी से बढ़कर 3.73 लाख टन हो गया, जो पिछले साल के इसी महीने में 2.67 लाख टन था।

इस अवधि के दौरान सूरजमुखी तेल का आयात 1.75 लाख टन से मामूली रूप से घटकर 1.18 लाख टन रह गया।

एसईए के मुताबिक इस साल 1 जून तक खाद्य तेल का स्टॉक 4.84 लाख टन था और करीब 17.65 लाख टन पर इंतजार कर रहा था।

भारत मुख्य रूप से इंडोनेशिया और मलेशिया से पाम तेल और अर्जेंटीना से सोयाबीन तेल सहित कच्चे तेल की छोटी मात्रा का आयात करता है। सूरजमुखी का तेल यूक्रेन और रूस से आयात किया जाता है।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here