बस्ती में खराब सड़क पर फंसी एंबुलेंस, फिर करनी पड़ी वहां डिलीवरी, जानें मामला

0
8


हाइलाइट

काफी कोशिशों के बाद भी एंबुलेंस नहीं निकल पाई।
सड़क खराब होने के कारण मरीज को 500 मीटर दूर ही छोड़ देते हैं।

कालोनी उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले के दुबुलिया में एक गर्भवती महिला को एंबुलेंस में जन्म देना पड़ा. इसके पीछे की वजह जानकर आप हैरान रह जाएंगे। दरअसल, खराब सड़क और बारिश के कारण एंबुलेंस का टायर कीचड़ में फंस गया. लाख कोशिशों के बाद भी एंबुलेंस को बाहर नहीं निकाला जा सका. ऐसे में डिलीवरी की प्रक्रिया एंबुलेंस में ही करनी पड़ी।

मिली जानकारी के अनुसार 102 एंबुलेंस पीड़िता को दुबुलिया प्रखंड के एक गांव से प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र रामनगर विश्वेश्वरगंज ले जा रही थी. काफी देर तक सड़क खराब रहने के कारण एंबुलेंस खाई में फंस गई। काफी कोशिशों के बाद भी जब एंबुलेंस नहीं निकल पाई तो पीड़िता ने एंबुलेंस में बच्चे को जन्म दिया.

पैदल अस्पताल पहुंचे मां-बच्चे
गांव की आशा बहू रीना 102 एंबुलेंस से प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र रामनगर विश्वेश्वरगंज ले जा रही थीं, तभी प्रखंड क्षेत्र के गांव संदपुर निवासी विजय की पत्नी सरिता प्रसव पीड़ा में थी. अस्पताल की ओर जाने वाली सड़क बहुत खराब होने के कारण अस्पताल से दो सौ मीटर पहले खाई में फंस गया। चालक की लाख कोशिशों के बाद भी एंबुलेंस नहीं निकल पाई। महिला का प्रसव पीड़ा अधिक होने पर डॉक्टर डीके चौधरी, स्टाफ नर्स सुनीता वर्मा और दाई ने मौके पर ही एंबुलेंस में बच्चे को सुरक्षित पहुंचा दिया. इसके बाद मां बच्चे को पैदल ही अस्पताल ले गई।

लंबे समय से खराब सड़क
डॉ. डीके चौधरी ने कहा कि बारिश के कारण अस्पताल की ओर जाने वाला रास्ता बहुत खराब है, इसलिए न तो एंबुलेंस अस्पताल पहुंच पाती है और न ही हम अपनी गाड़ी को अस्पताल ले जा सकते हैं. खराब सड़क के कारण एंबुलेंस चालक मरीजों को पांच सौ मीटर दूर छोड़ देते हैं, इसलिए मरीजों को पैदल चलकर अस्पताल तक जाना पड़ता है.

टैग: 108 एम्बुलेंस, बस्ती समाचार, यूपी समाचार, योगी सरकार



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here