निशंक राठौर मामला: एसआईटी को मिली मोबाइल-लैपटॉप की फॉरेंसिक रिपोर्ट, खुलासा

0
11


भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में बीटेक के छात्र निशंक राठौर की संदिग्ध मौत की जांच कर रहे विशेष जांच दल (एसआईटी) को मोबाइल और लैपटॉप की फॉरेंसिक रिपोर्ट मिली है. सूत्रों के मुताबिक निशंक के फोन से उनके पिता को ‘सर तन से जुदा’ पोस्ट भेजी गई थी। फोटो को निशंक के मोबाइल फोन से भी एडिट किया गया था। मृतक लगातार ‘सर तन से जुदा’ जैसे लेखों की तलाश में था। एसआईटी जांच में अब तक हत्या का कोई सबूत नहीं मिला है।

सूत्रों के मुताबिक, रिपोर्ट में कहा गया है कि निशंक का फोन आखिरी बार शाम 6:02 बजे लॉक हुआ था। यानी तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। फोन को ऑपरेट करने के लिए लगभग हर बार निशंक के फिंगरप्रिंट का इस्तेमाल किया जाता था। शाम 5:09 बजे से शाम 6:02 बजे के बीच पेट्रोल पंप पर भुगतान करने के बीच फोन कई बार लॉक-अनलॉक हुआ। निशंक ने कई जगहों से कर्ज लिया था। फोरेंसिक रिपोर्ट में भी उसकी जानकारी सामने आई है।

ये मामला है
दिलचस्प बात यह है कि निशंक की मौत से राज्य में हड़कंप मच गया है। पुलिस की अब तक की जांच में मामला सुसाइड का ही लग रहा है। हालांकि इसको लेकर अभी भी कुछ संशय बना हुआ है। बता दें, सिवानी मालवा निवासी बी.टेक के छात्र निशंक राठौर का शव 24 जुलाई को रायसेन जिले के बरखेड़ा रेलवे स्टेशन के पास मिला था. उस समय प्रथम दृष्टया ऐसा लग रहा था कि ट्रेन की चपेट में आने से उसकी मौत हो गई। लेकिन, निशंक के मोबाइल फोन से पिता ने कहा, ‘राठौर साहब आपका बेटा बहुत बहादुर था… शरीर से अलग किए गए गुस्ताख-ए-नबी की सजा ही।’ इसके साथ ही लिखा है कि, ‘सभी हिंदू गौरक्षकों का संदेश…

टैग: भोपाल समाचार, एमपी न्यूज



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here