नगरीय निकाय चुनाव के क्षेत्र में चल रही अंकगणित और ज्योतिष की चर्चा, जानिए क्या है वजह

0
18


भोपाल। मध्य प्रदेश में प्रदर्शित नगरीय निकाय चुनाव अब आरोप-प्रत्यारोप का दौर चल रहा है। पीसीसी प्रमुख कमलनाथ पंचायत चुनावों के लिए अपने पुराने बयान को दोहराने के बाद भाजपा ने जवाबी कार्रवाई करने में संकोच नहीं किया। पंचायत चुनाव के नतीजों को लेकर कमलनाथ के बयान पर भाजपा ने कहा कि कमलनाथ का गणित अच्छा है लेकिन ज्योतिष नहीं।

पूर्व मुख्यमंत्री और पीसीसी प्रमुख कमलनाथ ने अपने बयान में कहा था कि यह कोई रहस्य नहीं है कि पुलिस, प्रशासन और पैसे के बल पर पंचायत के नतीजे कांग्रेस के पक्ष में आ रहे हैं. कमलनाथ ने यह भी दावा किया है कि 16 महीने में कांग्रेस की सरकार बनेगी।

नतीजों पर राजनीति
पंचायत चुनाव के नतीजों के दौरान कांग्रेस ने दावा किया है कि कांग्रेस समर्थित उम्मीदवारों ने 70 फीसदी सीटों पर जीत हासिल की है. पूर्व मंत्री कमलेश्वर पटेल ने कहा कि पंचायत चुनाव में बीजेपी को हार का सामना करना पड़ रहा है. इसी डर के चलते बीजेपी ने चुनाव को काफी समय के लिए टाल दिया था. कमलेश्वर पटेल ने दावा किया कि विधानसभा और विधानसभा चुनावों में भी भाजपा की स्थिति खराब होगी। इसी बीच News18 से एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में पूर्व मुख्यमंत्री पीसीसी प्रमुख कमलनाथ ने पंचायत चुनाव के नतीजों को लेकर कहा था, ‘पर्व पर्व आता है। यह कहानी किसी से छिपी नहीं है। पुलिस, प्रशासन और पैसे के बल पर नतीजे आ रहे हैं। 16 महीने में बनेगी कांग्रेस की सरकार मैं भ्रमण करता रहूंगा। मुझे विश्वास है कि विभा पटेल भोपाल की मेयर होंगी। भोपाल के विकास का एक नया इतिहास शुरू होगा।

यह भी पढ़ें- शिवराज को हुआ गुस्सा, अधिकारियों से कहा, सीएम हाउस में ये नहीं चलेगा…

कांग्रेस कल कभी नहीं आएगी
बीजेपी की ओर से प्रदेश मीडिया के प्रभारी लोकेंद्र पाराशर ने जवाब दिया कि लोगों को बीजेपी पर भरोसा है. उपचुनाव से पहले कमलनाथ लाल परेड मैदान में झंडा फहराने का दावा कर रहे थे, लेकिन अब वह पीसीसी में भी झंडा नहीं फहरा सकते। कल मध्य प्रदेश आएंगे, पर्व आएंगे लेकिन कांग्रेस कभी नहीं आएगी। जनता भाजपा के साथ है और भाजपा के साथ रहेगी।

नगर निगम चुनाव की लड़ाई जारी
मध्य प्रदेश में पंचायत और नागरिक चुनाव जोरों पर हैं। नगर पंचायत के लिए पहले चरण का मतदान हुआ। अगला चरण 1 जुलाई और फिर 8 जुलाई को है। अर्बन ग्रुप के लिए वोटिंग 6 जुलाई और 13 जुलाई को होगी। हालांकि पंचायत चुनाव पार्टी की तर्ज पर नहीं होते हैं, लेकिन पार्टियां समर्थित उम्मीदवारों पर प्रभाव का दावा करती हैं।

टैग: कमलनाथ, मध्य प्रदेश ताजा खबर, नगरपालिका चुनाव



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here