गजकेसरी योग: गजकेसरी योग बना सकता है आपको अमीर, जानिए राशिफल को मजबूत करने के फायदे और अचूक उपाय

0
10


हाइलाइट

गजकेसरी योग को मजबूत करने के लिए भगवान शिव की पूजा करनी चाहिए।
गजकेसरी योग व्यक्ति की सभी महत्वाकांक्षाओं को पूरा करता है।

गजकेसरी योग: किसी व्यक्ति की कुंडली में बनने वाले कई शुभ और अशुभ योगों का व्यक्ति के जीवन पर अच्छा प्रभाव पड़ता है। कुछ ऐसे योग हैं जो मनुष्य को एक पद से दूसरे राजा तक बनाते हैं। वहीं कुछ योग राजा रैंक बनाने में देर नहीं करते। कुंडली में बनने वाले शुभ योगों के बारे में हम एक श्रंखला चला रहे हैं, जिसमें हम बात करेंगे गजकेसरी योग की। जिसकी कुण्डली में गजकेसरी योग होता है वह राजसुख का आनंद लेता है और कार्यकुशल होता है। भोपाल का रहने वाला ज्योतिषी और पंडित हितेंद्र कुमार शर्मा इस कड़ी में हम आपको बताते हैं कि गजकेसरी योग कैसे किया जाता है और इसके क्या फायदे हैं।

गजकेसरी योग कब बनता है?

ज्योतिषी पंडित हितेंद्र कुमार शर्मा के अनुसार हाथी और सिंह के योग से गजकेसरी योग बनता है। गजकेसरी योग कुंडली में बृहस्पति और चंद्रमा के बल के कारण बनता है। यदि कुंडली में चंद्रमा और बृहस्पति आमने-सामने बैठे हों तो यह शक्तिशाली योग बनता है।

यह भी पढ़ें- पन्ना किसे पहनना चाहिए और किसे नहीं, जानिए इन्हें धारण करने के फायदे

यह कभी फल नहीं देता

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार यदि किसी व्यक्ति की कुंडली के केंद्र में चंद्रमा और बृहस्पति आमने-सामने बैठे हों तो गजकेसरी योग बनता है, लेकिन यदि चंद्रमा या बृहस्पति दोनों में से कोई भी नीच का हो तो गजकेसरी योग बनता है, कोई फल नहीं मिलता है। .

ऐसे होते हैं गजकेसरी योग के लोग

1. बिना अहंकार के गज में अपार शक्ति होती है और सिंह के पास दूरदर्शी बुद्धि के साथ-साथ चपलता, लक्ष्य के प्रति सजगता और अदम्य साहस होता है। इसी प्रकार जिस व्यक्ति की कुण्डली में गजकेसरी योग होता है वह बलवान, बुद्धिमान, दूरदर्शी, अदम्य साहस और क्षेत्र में ध्वजवाहक होता है।

2. उच्च पदों पर नियुक्ति। वाद-विवाद और वाद-विवाद में दक्ष।

3. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार जिस व्यक्ति की कुंडली में गजकेसरी योग होता है वह धनवान होता है। यहां बृहस्पति को धन का अधिपति माना जाता है। उस व्यक्ति को अधिक धन मिलता है। यह शुभ योग व्यक्ति की हर महत्वाकांक्षा को पूरा करता है।

4. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार जिस भाव में गुरु और चंद्रमा गजकेसरी योग बनाते हैं, उस भाव के जातक को शुभ फल की प्राप्ति होती है।

5. जब चौथे और दसवें घर में गजकेसरी योग बनता है, तो व्यक्ति अपने पेशे और करियर में उच्च स्थान प्राप्त करता है।

गजकेसरी योग के लाभ

1. जिस व्यक्ति की कुंडली में गजकेसरी योग होता है वह अपने करियर में ऊंचाइयों को छुएगा।

2. गजकेसरी योग से व्यक्ति की हर महत्वाकांक्षा पूरी होती है।

3. जातक को धन का लाभ मिलता है, संतान का सुख मिलता है, घर का सुख मिलता है, वाहन का भी सुख मिलता है.

4. गजकेसरी योग से व्यक्ति को समाज में शाही सुख और मान सम्मान की प्राप्ति होती है।

यह भी पढ़ें- इन 3 राशियों के जातकों के भाग्य में जन्म लेते ही राज योग बनता है।

ऐसे करें मजबूत गजकेसरी योग

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार गजकेसरी योग को मजबूत करने के लिए भगवान शिव की पूजा करना विशेष फलदायी माना गया है। साथ ही गजकेसरी योग के जातकों के लिए पीला पुखराज या मोती धारण करना लाभकारी माना जाता है, लेकिन कोई भी रत्न धारण करने से पहले किसी ज्योतिषी की सलाह अवश्य लेनी चाहिए।

टैग: ज्योतिष, धर्म, धर्म



#

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here