कुछ भी हो सकता है कांग्रेस के नगर उपाध्यक्ष विजय प्रमाण पत्र के साथ भाजपा में शामिल

0
10


ग्वालियर। ग्वालियर जिले में पोखर नगर पालिका के राष्ट्रपति उपाध्यक्ष चुनाव में वो हुआ जिसकी किसी ने कल्पना भी नहीं की थी। कांग्रेस पार्षदों की क्रॉस वोटिंग ने भाजपा अध्यक्ष को जीत लिया और भाजपा के क्रॉस वोटिंग के परिणामस्वरूप उपाध्यक्ष का पद कांग्रेस के खाते में चला गया। उसके बाद भी आगे-पीछे की चर्चा चलती रही। धन्यवाद कांग्रेस सत्येंद्र दुबे उन्होंने उपाध्यक्ष का पद छोड़ दिया और भाजपा में शामिल हो गए।

हुआ उल्टा। डबरा नगर पालिका में 30 पार्षदों के साथ अध्यक्ष पद पर भाजपा की लक्ष्मीदेवी ने 14 नगरसेवकों को 18 मतों से जीत हासिल की, लेकिन उपाध्यक्ष पद पर कांग्रेस प्रत्याशी सत्येंद्र दुबे ने भाजपा पार्षदों के क्रॉस वोटिंग से जीत हासिल की. परंतु राजनीतिक नाटक बात यहीं खत्म नहीं हुई। उत्कर्ष सबसे बड़ा झटका ये लगा कि चुनाव जीतने के 10 मिनट के अंदर ही कांग्रेस उपाध्यक्ष सत्येंद्र दुबे ने बीजेपी में शामिल हो गए.

सब कुछ उल्टा कर दो
गुरुवार को डबरा नगर पालिका के उपाध्यक्ष पद के लिए हुए चुनाव को लेकर काफी घमासान देखने को मिला. डबरा नगर पालिका में कुल 30 पार्षद हैं। इसमें बीजेपी के 14, कांग्रेस के 10, 4 निर्दलीय और आम आदमी पार्टी के 2 पार्षद जीते. राष्ट्रपति के चुनाव के बाद बीजेपी ने लक्ष्मीदेवी को अपना आधिकारिक उम्मीदवार बनाया. वहीं कांग्रेस ने सही समय पर सुनीता को प्रत्याशी बनाया है. जब चुनाव हुए थे तो बीजेपी को 24 वोट मिले थे जबकि कांग्रेस को सिर्फ 6 वोट मिले थे. यानी कांग्रेस के 4 पार्षदों ने बीजेपी को क्रॉस वोट दिया. उनकी मदद से भाजपा की लक्ष्मीदेवी ने अध्यक्ष पद के लिए 18 मतों से एकतरफा जीत दर्ज की.

यह भी पढ़ें- मध्य प्रदेश में बन रहा दुनिया का सबसे बड़ा फ्लोटिंग सोलर पावर प्लांट, अनुबंध पर हस्ताक्षर, ये हैं विशेषताएं

भाजपा की क्रॉस वोटिंग से कांग्रेस उपाध्यक्ष की जीत
डबरा नगर पालिका में एकतरफा राष्ट्रपति चुनाव जीतने वाली भाजपा उप-राष्ट्रपति चुनाव में गुटबाजी की चपेट में आ गई थी। उपाध्यक्ष पद पर बीजेपी को हार का सामना करना पड़ा. उप-राष्ट्रपति चुनाव में बीजेपी को 8 वोटों से हार का सामना करना पड़ा था. भाजपा ने कपिल खटीक और कांग्रेस ने सत्येंद्र दुबे को उपाध्यक्ष बनाया है। जब चुनाव हुए थे तो कांग्रेस के सत्येंद्र दुबे को 19 और बीजेपी के कपिल खटीक को 11 वोट मिले थे. अंतत: कांग्रेस के सत्येंद्र दुबे ने उप-राष्ट्रपति चुनाव में 8 मतों से जीत हासिल की। उप-राष्ट्रपति चुनाव में भाजपा के 14 में से कम से कम 3 पार्षदों ने क्रॉस वोटिंग की। 4 कांग्रेस पार्षदों ने राष्ट्रपति चुनाव में क्रॉस वोटिंग की।

विजय प्रमाण पत्र मिलने पर दलबदल
डबरा नगर पालिका में उपाध्यक्ष का पद जीतने वाली कांग्रेस की खुशी 10 मिनट में ही खत्म हो गई. कांग्रेस उपाध्यक्ष सत्येंद्र दुबे विजय प्रमाण पत्र प्राप्त कर भाजपा में शामिल हो गए। इमरती देवी ने नगर कांग्रेस उपाध्यक्ष सत्येंद्र दुबे को भाजपा में शामिल किया। सत्येंद्र दुबे के साथ कांग्रेस पार्षद सरदार सिंह कुशवाहा भी भाजपा में शामिल हो गए।

टैग: ग्वालियर समाचार, नगरपालिका चुनाव



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here