किन्नर महामंडलेश्वर का बड़ा ऐलान, कहा- मैं मर भी जाऊं तो 8 अगस्त को ज्ञानवापी में रुद्राभिषेक करूंगा.

0
7


जबलपुर। 50 से ज्यादा देशों में भागवत कथा पढ़ने वाली देश की पहली किन्नर महामंडलेश्वर हिमांगी सखी एक बार फिर अपने बयान को लेकर चर्चा में हैं. मध्य प्रदेश के संस्कारधानी के जबलपुर में बुधवार को पहुंची किन्नर महामंडलेश्वर हिमांगी सखी ने कहा है कि वह सावन के चौथे सोमवार यानी 8 अगस्त को बनारस स्थित विश्वेश्वर ज्ञानवापी महादेव का रुद्राभिषेक करेंगी. इसके लिए उन्हें अपनी जान गंवानी पड़ सकती है या जेल भी जाना पड़ सकता है। लेकिन, वे अपना संकल्प पूरा करेंगे।

किन्नर महामंडलेश्वर हिमांगी सखी ने कहा है कि वह अकेले महादेव का रुद्राभिषेक करने नहीं जाएंगी बल्कि देश के अन्य हिस्सों से संत भी वाराणसी पहुंचेंगे। और सभी पिछले सोमवार 8 अगस्त को बनारस से गंगाजल लेकर कांवड़ यात्रा के रूप में विश्वेश्वर ज्ञानवापी महादेव का रुद्राभिषेक करेंगे। गौरतलब है कि ज्ञानवापी शिवलिंग को लेकर पूरा मामला कोर्ट में विचाराधीन है। इस बीच प्रशासन ने वहां किसी भी तरह की पूजा पर रोक लगा दी है।

महामंडलेश्वर स्वयं कर सकते हैं जलाभिषेक
किन्नर महामंडलेश्वर हिमांगी सखी ने भी कहा है कि अगर प्रशासन अनुमति नहीं देता है तो वह अभिषेक करेंगे। क्योंकि, इस धरती पर किन्नरों को अर्धनारीश्वर माना जाता है और भगवान भोलेनाथ को अर्धनारीश्वर भी कहा जाता है। ऐसे में अनुमति न मिलने पर वह न केवल मंदिर के सामने धरना दे सकती हैं बल्कि स्वयं अभिषेक भी कर सकती हैं।

इस पर आपत्ति
उन्होंने यह भी आपत्ति जताई कि अगर अल्पसंख्यक समुदाय को इतने सालों तक वुज़ू करने का अधिकार मिल सकता है, तो हिंदू समुदाय के लोग सावन में महादेव का रुद्राभिषेक क्यों नहीं कर सकते। इससे पहले भी महामंडलेश्वर हिमांगी सखी ने विश्वेश्वर महादेव शिवलिंग में जलाभिषेक करने की अनुमति मांगी थी, जिसके बाद उन्हें कई धमकियां मिलीं।

टैग: जबलपुर समाचार, एमपी न्यूज





#

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here