कानपुर : फर्जी क्राइम ब्रांच का अफसर बनकर आए 3 आरोपित रंगदारी की मांग, हुआ ये हाल

0
9


कानपुर: उत्तर प्रदेश के कानपुर में तीन युवकों ने क्राइम ब्रांच का अफसर बन कर रंगदारी की मांग की. ऐसा ही एक मामला बिधानू थाना क्षेत्र कानपुर ऊटर के मैठा प्रखंड में सामने आया है जहां तीन युवक क्राइम ब्रांच का सीओ बनकर पूर्व प्रखंड प्रमुख के घर रंगदारी की मांग करने पहुंचे. सूचना मिलते ही असली पुलिस मौके पर पहुंची तो क्राइम ब्रांच के अधिकारी होने का दावा करने वाले तीनों युवकों के हाथ-पैर फूल गए और फिर पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर लिया.

दरअसल, ये तीनों आरोपी रंगदारी मांगने की नीयत से मैठा प्रखंड के पूर्व प्रखंड प्रमुख रंजू यादव के घर पहुंचे थे. इनमें से एक युवक ने खुद को लखनऊ क्राइम ब्रांच का सीओ बताया और पूर्व प्रखंड प्रमुख से पैसे की मांग की. इन आरोपियों ने ऐसे लूटा जैसे वाकई क्राइम ब्रांच के अफसर हों। इन तीनों को गिरफ्तार कर लिया गया है और कानपुर आउटर के बिधानू थाने में मामला दर्ज किया गया है.

तीनों आरोपी क्राइम ब्रांच की दो वॉकी-टॉकी और एक नकली आई-कार्ड लेकर कार में सवार होकर पूर्व ब्लॉक प्रमुख के आवास पर पहुंचे। गिरफ्तार आरोपियों में से एक फर्जी क्राइम ब्रांच का अधिकारी बन गया है, उसका नाम गाजीपुर निवासी मेजर है, जबकि दूसरे का नाम गोरखपुर निवासी बृजेश सिंह है. तीसरे आरोपी का नाम आशुतोष पांडे है और वह लखनऊ का रहने वाला है.

गिरफ्तारी के बाद पुलिस को यह भी पता चला कि आरोपी मेजर मैथा के पूर्व ब्लॉक प्रमुख रंजू यादव के साथ खनिक का काम करता था और उसका उससे कुछ लेन-देन को लेकर विवाद हो गया था, जिस पर दोनों फोन पर बात कर रहे थे। बहुत बार। मेरा भी एक तर्क था। इनमें बृजेश सिंह ने रंजू यादव को फोन पर धमकी दी थी कि वह लखनऊ क्राइम ब्रांच का सीओ है और ये लोग भी यहां आकर फर्जी अफसर बनकर पैसा कमा रहे हैं.

टैग: कानपुर समाचार, उत्तर प्रदेश समाचार



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here